हस्तमैथुन से बचने के उपाय

Hastmaithun, Masturbation Treatment, Hastmaithun Ka Ilaj, Side Effects Of Masturbation

हस्तमैथुन क्या होता है?

जब कोई व्यक्ति (पुरूष) अपनी कामोत्तेजना या फिर सेक्स की इच्छा को पूरा करने के लिए बहुत ज्यादा उत्सुक हो, लेकिन उसके पास अपनी कामेच्छा (उत्तेजना) को शांत करने के लिए कोई साधन (पत्नी/स्त्री) उपलब्ध न हो, तो वह अपनी हवस को शांत करने के लिए अपने हाथों से लिंग को सहला कर, घर्षण करके वीर्य स्खलित कर लेता है, जिससे उसकी उत्तेजना शांत हो जाती है। इस पूरी प्रक्रिया को ही हस्तमैथुन कहते हैं।

आप यह हिंदी लेख Chetanclinic.com पर पढ़ रहे हैं..

सरल व एक वाक्य में हस्तमैथुन की परिभाषा-

पुरूष द्वारा हाथ से लिंग को सहला कर वीर्य नष्ट किया जाना अप्राकृतिक मैथुन यानी हस्तमैथुन कहलाता है।

हस्तमैथुन की लत कैसे पड़ती है?

यूं तो हस्तमैथुन सीधे तौर पर तब ही किया जाता है, जब व्यक्ति की कामवासना जागृत होती है। लेकिन निर्भर करता है कि उत्तेजना क्यों आ रही है या फिर जबरदस्ती की कामुक सोच का परिणाम है।
कुल मिलाकर हस्तमैथुन की लत का सबसे पहला कारण है अति कामोत्तेजना।

1. अत्याधिक अश्लील फिल्म देखने से।

2. अत्यधिक अश्लील साहित्य पढ़ने से।

3. एकांत में किसी सुंदर स्त्री की कल्पना करने से।

4. किसी को संभोग करते देखने से।

5. बुरी संगत के कारण।

6. अत्यधिक नशे के कारण आई उत्तेजना से।

7. स्त्री अथवा पत्नी से अधिक समय तक दूर रहने से।

8. लंबे समय तक बिना संभोग के रहने के कारण।

9. अधिक वेश्यागमन के कारण।

10. महिलाओं व स्त्रियों के सम्पर्क में अधिक रहने के कारण।

11. तामसिक आहार का सेवन करने से।

12. किसी स्त्री को बिना वस्त्रों में देखने से आई उत्तेजना का दिमाग में तीव्र असर आदि।

हस्तमैथुन के नुकसान क्या हैं?

1. अत्यधिक हस्तमैथुन करने से व्यक्ति में आत्मबल, आत्मविश्वास की कमी बहुत ज्यादा हो जाती है।

2. शारीरिक रूप से व्यक्ति कमजोर तो होता ही है, मानसिक रूप से भी विकृति आ जाती है।

3. हस्तमैथुन की लत से शीघ्रपतन रोग, स्वप्नदोष की संभावना अधिक हो जाती है।

4. मन में हर वक्त आत्मगिलानि रहने के कारण मन अशांत रहता है।

5. किसी भी काम में मन नहीं लगता है।

6. हाथ में लिये काम को अधूरे में ही छोड़ देना।

7. कमर व पिंडलियों में दर्द।

8. धीरे-धीरे सेक्स में अरूचि होने लगती है।

9. संभोग शक्ति कम हो जाती है।

10. वीर्य में पतलापन व शुक्राणुओं की कमी।

11. लिंग विकार जैसे- नसों की कमजोरी, मसाने की कमजोरी, टेढ़ापन आदि।

हस्तमैथुन की आदत से छुटकारा कैसे पायें?

1. सर्वप्रथम किसी भी बुरी आदत से छुटकारा पाने के लिए स्वयं में दृढ संकल्पित होना अति आवश्यक होता है।

2. दृढ़ संकल्प देने के बाद आप सबसे पहले अश्लील फिल्म व अश्लील पुस्तकों से दूर रहें।

3. मन को शुद्ध व शांत रखने के लिए धार्मिक, प्ररेणात्मक प्रसंग सुनें, देखें व पढ़ें। रात्रि में सोने से पूर्व ऐसा जरूर करें।

4. सोने से पहले मूत्र त्याग करके सोयें।

5. हर प्रकार के नशे से दूर रहें।

6. एकांत में अधिक न रहें। खाली घर और खाली दिमाग, काम रूपी शैतान को निमंत्रण देने के लिए काफी होता है।

7. हर वक्त स्त्री और लड़की के बारे में ना सोचें।

8. अश्लील वातावरण में न रहें और न ही ऐसे स्थान पर रहें, जहां अश्लील चर्चा या वार्तालाप चल रही हो।

9. अपने पूरे दिन का ऐसा टाइम टेबल बना लें, जिससे आप दिनभर व्यस्त रहें और आपको हस्तमैथुन के बारे में सोचने का अवसर ही ना मिले।

10. योगा और व्यायाम करें, इससे सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न होती है और आप हस्तमैथुन करने से बचते हैं।

11. पेट के बल न सोयें।

12. लिंग को अनावश्यक न छुएं और न ही सहलायें।

उपरोक्त बताये गये उपाय ऐसे हैं यदि इतन पर अमल किया जाये, तो पुरूष को अपनी हस्तमैथुन की आदत से काफी हद तक छुटकारा मिल सकता है।

Summary
Hastmaithun Se Bachne Ke Upay
Article Name
Hastmaithun Se Bachne Ke Upay
Description
Hastmaithun Se Bachne Ke Upay. जब कोई पुरूष अपने हाथों से लिंग को सहला कर, घर्षण करके वीर्य स्खलित कर लेता है, तो इस पूरी प्रक्रिया को ही हस्तमैथुन कहते हैं।
Author
Publisher Name
Chetan Clinic
Publisher Logo
Tags:

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *